भारतीय दूरसंचार कंपनी एयरटेल ने गुरूवार को इंटरनेट सेवा प्रदाता कंपनी तिकोना के 4जी नेटवर्क को खरीदने की घोषणा की हैं. एयरटेल का यह सौदा तकरीबन 1600 करोड़ रूपए में होने की उम्मीद हैं. इस सौदे के तहत भारती एयरटेल तिकोना का ब्रॉडबैंड वायरलेस एसेस स्पेक्ट्रम और पांच टेलीकॉम सर्किल में 350 साइट का अधिग्रहण करेगी.. अगर एयरटेल तिकोना का अधिग्रहण करती हैं तो कंपनी भारत की ऐसी दूसरी कंपनी होगी जिसके पास 2,300 मेगाहर्टज् होगा. अभी फिलहाल भारत में पहील नंबर पर रिलायंस जियो हैं. वर्तमान में तिकोना के पास फिलहाल 2,300 मेगाहॉर्टस बैंड में गुजरात, उत्तर प्रदेश (पूर्व), उत्तर प्रदेश (पश्चिम), राजस्थान और हिमाचल प्रदेश सर्किलों में 20 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम है

अगर एयरटेल और तिकोना का अधिग्रहण होता हैं तो तिकोना की गुजरात, उत्तर प्रदेश (पूर्व), उत्तर प्रदेश (पश्चिम) और हिमाचल प्रदेश में 4G  कारोबार वाली सभी सेवाएं एयरटेल के हाथों मे आ जाएगी और राजस्थान सर्किल में यह अधिग्रहण एयरटेल की सहायक कंपनी भारती हेक्साकॉम के जरिये होगा.ई क्षमता के साथ हम अपने नेटवर्क को और क्षमतावान बना सकेंगे और इससे हमें अपने ग्राहकों को हाई-स्‍पीड वायरलेस ब्रॉडबैंड सेवा उपलब्‍ध कराने में भी मदद मिलेगी.

एयरटेल का ध्यान अभी सिर्फ अपनी 4जी क्षमता को बढ़ाने पर हैं क्योकि बीते समय से भारत में जियो का ही प्रचलन चल रहा हैं और उसने अपने सभी ग्राहकों के लिए जियो के बाद नए ऑफर्स का ऐलान किया हैं. जिस कारण एयरटेल भी अपने इस फैसले को आधार बनाकर ज्यादा-से-ज्यादा ग्राहको से जुड़ने का सोच रही हैं.

 

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें